बुधवार, 27 दिसंबर 2006

स्वप्न

स्वप्न मेरे कुछ भूले बिसरे
कागज को तरसे बरसों