बुधवार, 11 मार्च 2009

होली की मंगल कामनाएं

आप सब को होली की मंगल कामनाएं, आप सब के जीवन में ये होली नए नए रंग लेकर आये, आप खुशियों से नाचे, झूमें और प्यार के रंगों से अपना और सबका जीवन भर दें


होली के त्यौहार में, मची हुयी हुडदंग
सारे मिल कर डाल,रहे इक दूजे पर रंग
इक दूजे पर रंग, हुवे सब लाल गुलाबी
मस्ती में झूमें सभी, जैसे मस्त शराबी
कहे "दिगम्बर" शिकवे सारे आज भुला दो
दिल से दिल मिल जाए, ऐसा रंग लगा दो

25 टिप्‍पणियां:

  1. भाई आप का अंदाज बहुत प्यारा लगा
    धन्यवाद

    आपको और आपके परिवार को होली की रंग-बिरंगी ओर बहुत बधाई।बुरा न मानो होली है। होली है जी होली है

    जवाब देंहटाएं
  2. रंगों के पर्व होली पर हार्दिक शुभकामनाए

    जवाब देंहटाएं
  3. कुण्डली बाबा की जय!!

    आपको सपरिवार होली की मुकारबाद एवं बहुत शुभकामनाऐं.
    सादर
    समीर लाल

    जवाब देंहटाएं
  4. bahut khoob, aapko bhi holi ki anekon shubhkaamnayen, holi mubarak.

    जवाब देंहटाएं
  5. जय हो कुंडली बाबा की,
    आपको भी सपरिवार मेरे तरफ से होली की ढेरो
    बधाईयाँ और शुभकामनाये...

    अर्श

    जवाब देंहटाएं
  6. अम्दाजे बयां पसंद आया. आपको परिवार सहित होली की घणी रामराम.

    जवाब देंहटाएं
  7. भई दिगम्बर जी, बहुत खूब.....
    होली के इस पावन पर्व पर आपको सपरिवार हार्दिक शुभकामनाऎं........

    जवाब देंहटाएं
  8. बहुत सुंदर ... होली की ढेरो शुभकामनाएं।

    जवाब देंहटाएं
  9. होली के त्यौहार में, मची हुई हुडदंग
    हम भी लगे हैं सोचने,किस पर डालें रंग
    किस पर डालें रंग,सोच सोच बौराए
    शब्दों की बस होली खेलो,आखिरी यही उपाए
    सारे ब्लॉगर होली खेलें,'शोभित'रहे अभागे...
    एक ही तो पडोसी थे, वो भी US जा भागे ||

    जवाब देंहटाएं
  10. digamber ji ,aapko holi ki shubhkaamnaaye,,,
    sapariwaar,

    aaapkaa holi geet behad sunder ban padaa hai,,,

    जवाब देंहटाएं
  11. दिगम्बर नासवा जी
    आपको और आपके परिवार को भी होली की बहुत बहुत शुभकामनाये

    दिल का दर्द

    जवाब देंहटाएं
  12. sahi likha hai sir ji , maza aa gaya .. holi ki aapko bhi shubkaamanye [ sorry for late arrival ]

    maine bhi kuch likha hai ,dekhiyenga jaroor.

    aapka

    vijay

    जवाब देंहटाएं
  13. बहुत सुंदर पंक्तियाँ लिखी हैं...
    आपको मेरी और से होली की शुभकामनायें... देर से हैं पर दुरुस्त हैं....
    मीत

    जवाब देंहटाएं
  14. बहुत अच्छा कहा है
    रंगों की फुआर में यूँ ही रंगे रहो
    बहुदलीय सरकार से यूँ ही टंगे रहो
    बुरा न मानो आज किसी ठिठोली का
    खुशियों भरा हो रंग हर बरस होली का

    जवाब देंहटाएं
  15. अच्छी कविता है भाई इसके लिये बधाई और होली मुबारक.....

    जवाब देंहटाएं
  16. होली उत्सव और आपका मधुर काव्य
    दोनों इक-दूजे के रंग में खूब रंगे हुए से लगे
    बहुत-बहुत मुबारकबाद .........
    ---मुफलिस---

    जवाब देंहटाएं
  17. होली की बहुत बहुत शुभकामनाये

    जवाब देंहटाएं
  18. कहे "दिगम्बर" शिकवे सारे आज भुला दो
    दिल से दिल मिल जाए, ऐसा रंग लगा दो
    ... बेहद खूबसूरत , शुभकामनाएँ !!!!

    जवाब देंहटाएं
  19. दिगंबर जी होली के चक्कर में आपके ब्लॉग पर आना न हो पाया था बहुत ही बढ़िया शुभकामनायें हैं .आज रंगपंचमी है जो हमारे भोपाल में खूब होती है तो आपको रंगपंचमी की शुभकामनायें .

    जवाब देंहटाएं
  20. 'दिल से दिल मिल जाए, ऐसा रंग लगा दो'
    -सुंदर.

    जवाब देंहटाएं
  21. भाई आने में देर हो गयी...चलो देर से ही सही होली की शुभकामनाएं...
    नीरज

    जवाब देंहटाएं
  22. कहे दिगंबर शिकवे सारे आज वो भूली (या शिकवे भूल बनी वो भोली )
    दिल से दिल मिल जाएँ ऐसी हो अब होली
    (यदि यह रचना कुण्डलियाँ श्रेणी की है तो ?)

    जवाब देंहटाएं

आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है