बुधवार, 22 अगस्त 2012

इक तबस्सुम में ये दम है ...


दिन हैं छोटे रात कम है 
साथ उनका दो कदम है  

फुर्र हो जाते हैं अपने 
वक़्त का कैसा सितम है 

तू है या एहसास तेरा 
या मेरे मन का वहम है 

दूर होने पर ये जाना 
आज फिर क्यों आँख नम है 

दूसरों को कौन रोए 
सब को बस अपना ही गम है  
  
छोड़ के मैं जा न पाया  
इक तबस्सुम में ये दम है  

79 टिप्‍पणियां:

  1. छोड़ के मैं जा न पाया
    इक तबस्सुम में ये दम है

    वाह!वाह!!
    बहुत ही खूबसूरत जीवंत शेर है.

    जवाब देंहटाएं
  2. दूसरों को कौन रोए
    सब को बस अपना ही गम है | लाजबाब | बधाई

    जवाब देंहटाएं
  3. दिन हैं छोटे रात कम है
    साथ उनका दो कदम है
    दो कदम का साथ भी बहुत होता है... बहुत खूबसूरत अहसास

    जवाब देंहटाएं
  4. अपने किसी की जुदाई के शे'र -- लाज़वाब !

    जवाब देंहटाएं
  5. किसी के दूर होने पर
    अहसास जादा होता है की वो
    कितने खास है...
    बहुत सुन्दर हृदयस्पर्शी रचना
    :-)

    जवाब देंहटाएं
  6. दूर होने पर ये जाना
    आज फिर क्यों आँख नम है

    बहुत सुन्दर... लाज़वाब.......

    जवाब देंहटाएं
  7. छोड़ के मैं जा न पाया
    इक तबस्सुम में ये दम है,,,,

    बहुत खूब,,मन को अहसास दिलाती लाजबाब प्रस्तुति,,,,,बधाई दिगम्बर नासवा जी,,,,,

    मै आपका बहुत पहले फालोवर हूँ आपकी पोस्ट पर
    हमेशा जाता हूँ अगर मेरी रचनाए पसंद आये तो
    अनुरोध है कि आप मेरे फालोवर बने,तो मुझे हार्दिक खुशी होगी,,,आभार,

    RECENT POST ...: जिला अनूपपुर अपना,,,
    RECENT POST ....: प्यार का सपना,,,,


    जवाब देंहटाएं
  8. वाह दिगंबर जी वाह क्या बात है, फिर एक मन को छूती रचना, बधाई स्वीकारें

    जवाब देंहटाएं
  9. दूर होने पर ये जाना आज फिर क्यों आँख नम है,
    दूसरों को कौन रोए, सब को बस अपना ही गम है.
    शानदार शेर !

    जवाब देंहटाएं
  10. वाह..

    फुर्र हो जाते हैं अपने
    वक़्त का कैसा सितम है

    बहुत सुन्दर नासवा जी..
    सादर
    अनु

    जवाब देंहटाएं
  11. वाह.....बेहद खुबसूरत।

    जवाब देंहटाएं
  12. दूसरों को कौन रोए
    सब को बस अपना ही गम है

    वाह ! बहुत खूब कहा है...यूँ तो सभी शेर एक से बढ़कर एक हैं

    जवाब देंहटाएं
  13. सीधे सरल से शब्दों में सजे भाव बहुत प्रभावित करते लगे ......विशेषकर अंतिम दोनों पंक्तियाँ .....

    जवाब देंहटाएं
  14. छोड़ के मैं जा न पाया
    इक तबस्सुम में ये दम है
    दूर होने पर ये जाना
    आज फिर क्यों आँख नम है
    सहज़ सरल शब्‍दों के साथ भावपूर्ण पंक्तियां ... आभार

    जवाब देंहटाएं
  15. बहुत हलके फुल्के अन्दाज़ में गहरी और दिल छू लेनी वाली बात कह देना आपकी खासियत है.. और दिख रही है इस गज़ल के अशार में!!

    जवाब देंहटाएं
  16. aapki iss behtareen rachna se gujarna achchha laga,bahut khubsurat rachna ke liye badhai.

    जवाब देंहटाएं
  17. दूसरों को कौन रोए
    सब को बस अपना ही गम है

    एक वास्तविकता………

    जवाब देंहटाएं
  18. छोटी छोटी पंक्तियाँ, बड़े बड़े हैं भाव |
    मंहगाई के दौर में, हाव-भाव बदलाव |
    हाव-भाव बदलाव , कदम दो साथ चले हैं |
    समय समय की बात, आज तो बहुत खले हैं |
    है तेरा एहसास, सांस न टूट सकेगी |
    रोना धोना सीख, नहीं तो मौत हँसेगी |


    किस मिटटी के हैं बने, तने रहे जब साथ |
    ताने मारें तान के, धनुष-वाण ले हाथ |
    धनुष-वाण ले हाथ, हमारी मिटटी काली |
    नेत्र ज्योति लूँ देख, मने अपनी दीवाली |
    रविकर कर दे लाल, लहू से सींचे बंधन |
    होली नहीं बवाल, समझ के करती अनबन ||

    जवाब देंहटाएं
  19. 'तू है या एहसास तेरा
    या मेरे मन का वहम है'
    कई अहसासों को समेटे सुदंर ग़ज़ल.

    जवाब देंहटाएं
  20. Screen reader users, click here to turn off Google Instant.
    Search
    About 4,140,000 results (0.40 seconds)
    Web
    Images
    Maps
    Videos
    News
    Shopping
    More
    Canton, MI
    Change location
    Search Options
    Show search tools
    Showing results for chiropractic in india
    Search instead for chiroprectic in india

    Search Results
    IndiaChiropractic |
    www.indiachiropractic.com/The mission objective of the Indian Association of Chiropractic Doctors (IACD) is to promote Chiropractic awareness and its importance among the public in ...
    U.S Chiropractic docs in Hyderabad(India) - YouTube

    ► 2:03► 2:03
    www.youtube.com/watch?v...Oct 13, 2008 - 2 min - Uploaded by khaleelramadugu
    Every year a bunch of Doctors and students of Palmer college of Chiropractic visit India, this year too they ...
    More videos for chiropractic in india »
    Chiropractic Diplomatic Corps - Bangalore India Project
    chiropracticdiplomatic.com/india/There are no chiropractic practitioners in the sub-continent of India. This despite the fact that India is a Mecca of many alternative/traditional healing methods ...
    Bangalore Chiropractor, Bangalore India | Bangalore Chiropractic ...
    www.bangalorechiropractic.com/ - IndiaBangalore chiropractor, Bangalore Chiropractic & Wellness Clinics of Bangalore Chiropractic and Wellness Clinics. Western qualified chiropractors serving the ...
    You visited this page on 8/4/12.
    Practitioners of Chiropractic Care in India
    www.lifepositive.com/.../Practitioners_Chiropractic%20Care_I...Practitioners of Chiropractic Care in India. ... Therapy : Acupressure, Chiropractic Care, Reflexology, Nutritional Therapy, Shiatsu Location : Hyderabad ...

    जवाब देंहटाएं
  21. बढ़िया ग़ज़ल है छोटी बहर की .बधाई ,वो ,आये ,गए भी ,कैसा भरम है ,सब वक्त का सितम है .
    .कृपया यहाँ भी पधारें -
    ram ram bhai
    बुधवार, 22 अगस्त 2012
    रीढ़ वाला आदमी कहलाइए बिना रीढ़ का नेशनल रोबोट नहीं .
    What Puts The Ache In Headache?

    जवाब देंहटाएं
  22. Your Bangalore Chiropractor ~ Bangalore Chiropractic

    The chiropractors at Bangalore Chiropractic and Wellness Clinics have been serving the Bangalore community with safe and natural chiropractic care since 2009.

    What is chiropractic? It's a Western natural healthcare and wellness discipline that focuses on the integrity of your nervous system and your body's innate, self-healing ability to restore and maintain optimal health. In the USA, there are over 50,000 practicing chiropractic physicians with doctorate level qualifications similar to medical doctors.

    Common health problems that are resolved through chiropractic care include headaches, back pain, scoliosis, neck pain, numbness, pain in joints, bed wetting, colic, ear infections and much more.

    Explore this site to discover how chiropractic can help you and your family. Then call Bangalore Chiropractic to make an appointment to see one of our Western-trained doctors.

    Bangalore Chiropractic | Contact our Bangalore Chiropractors | Call: 080 2542 4246 (Mobile Phone : 9483517789)

    जवाब देंहटाएं
  23. What Is a “Pinched” Nerve?

    The term, “pinched” nerve is really a misnomer. To understand why, you need to know about “motion segments” in the spine.

    A “motion segment” is made up of two adjacent vertebrae (bones), the disc that acts as a “shock absorber” between them, and the muscles and ligaments that keep them together. Nerves that carry communication signals between the brain and the body exit the spinal cord from each motion segment. If either vertebra in a motion segment is out of place, or turned even slightly from its proper position, pressure can be exerted on the nerve trunk. So… what is commonly referred to as a “pinched” nerve is really a displaced vertebra!

    What causes a bone in the spinal column to become out of place? Well, displacement can occur as the result of a fall, an accident, an injury, a repetitive movement (heavy lifting on the job), staying in the same position for a long time (working at a computer all day) or sudden twists and stress.

    Each nerve root is made up of millions of little fibers (like telephone cable) that leave each side of the spinal column, above and below each vertebra. When a vertebra moves out of its normal position, even slightly, pressure on a nerve root affects nerve impulses that go out to different parts of the body.

    The symptoms of vertebral pressure on a nerve root include pain, a burning sensation, tingling or numbness down one side of your body, perhaps in your arm or leg. You might also experience headaches, stomach or intestinal problems, sciatica, a stiff neck, insomnia, asthma, allergies, or any number of illnesses as a result of nerve interference caused by the displaced vertebra.

    Chiropractors are trained to identify these areas of “displacement,” which we call subluxations. Once we locate the misplaced bone, we move it back into place using a very specific adjustment. This takes the pressure off the affected nerves, so that they can re-establish proper communication throughout the body, allowing health and healing to take place.

    जवाब देंहटाएं
  24. Practitioners Of Chiropractic Care Therapy In India

    Chiropractic Care Practitioner: Uday Bv
    Rated :
    Therapy : Acupressure, Chiropractic Care, Reflexology, Nutritional Therapy, Shiatsu
    Location : Hyderabad
    State : Andhra Pradesh
    Speciality : Health and Fitness
    Comment and Rate More>>

    Chiropractic Care Practitioner: Alison Bale
    Rated :
    Therapy : Chiropractic Care
    Location : Margao
    State : Goa
    Speciality : Back and neck pain, headaches, vertigo
    Comment and Rate More>>

    Chiropractic Care Practitioner: M.A. Rama Murthy
    Rated :
    Therapy : Ayurveda, Chiropractic Care, Naturopathy, Yoga
    Location : Bhachau
    State : Gujarat
    Speciality : Councelling, Osteopathy Manipulations
    Comment and Rate More>>

    Chiropractic Care Practitioner: Kishore Punjabi
    Not Rated
    Therapy : Chiropractic Care
    Location : Mumbai
    State : Maharashtra
    Speciality : Back-Ache, SlipDisk, Arthritis, Spondylitis, & All Other Body Pains Are Cured WithOut MEDICINES & SURGERY With Chiro-Practic Thearpy

    जवाब देंहटाएं

  25. Chiropractic Care Practitioner: P Hemrajani
    Not Rated
    Therapy : Chiropractic Care, Craniosacral Balancing, Naturopathy
    Location : Mumbai
    State : Maharashtra
    Speciality : Chiropractic
    Comment and Rate More>>

    Chiropractic Care Practitioner: Rekhesh Jain
    Not Rated
    Therapy : Chiropractic Care, Emotional Freedom Technique, Naturopathy, Nutritional Therapy, Yoga
    Location : Mumbai
    State : Maharashtra
    Speciality : Executive Coach
    Comment and Rate More>>

    Chiropractic Care Practitioner: Umesh Kapoor
    Rated :
    Therapy : Chiropractic Care
    Location : Mumbai
    State : Maharashtra
    Speciality : Treating Back pain, Sciatica, Slip Disc,P.I.D., FrozenShoulder, Vertigo, Numbness & tingling sensastion in the hands and legs, Spondylosis, Oestoarthritis, Rehumatiod Arthritis, Spasticity in children, Hearing & Speech ijmpairment in child, Parkinsons,Tennis El

    जवाब देंहटाएं
  26. दूर होने पर ये जाना
    आज फिर क्यों आँख नम है

    हाय तबस्सुम तेरा......
    खूबसूरत...!

    जवाब देंहटाएं
  27. छोटे बहर की इस गज़ल के भाव लाज़वाब हैं। लेकिन आज आपकी गज़ल की आलोचना करने का मूड बन रहा है। दो मिसरे खटक रहे हैं...

    दिन हैं छोटे रात कम है...

    दिन बहुवचन में रात एक वचन में। सिर्फ तुकबंदी सही करने के लिए किया गया समझौता लगता है।

    आज फिर क्यों आँख नम है...

    एक आँख नम हो दूसरी न हो यह कैसे हो सकता है? आँखें नम हैं.. ही सही वाक्य होगा। यहाँ भी कारण वही तुकबंदी।

    ..शेष बेहतरीन है।

    जवाब देंहटाएं
  28. फुर्र हो जाते हैं अपने
    वक़्त का कैसा सितम है
    एक कड़वी सच्चाई. बेहतरीन नज्म. आभार !

    जवाब देंहटाएं
  29. आखिरी शेर मन को गुदगुदा गया।

    जवाब देंहटाएं
  30. किसी को खो देने के बाद ही उसकी अहमियत का अहसास होता है .....मन को छूने वाली रचना

    जवाब देंहटाएं
  31. दूसरों को कौन रोए
    सब को बस अपना ही गम है

    छोड़ के मैं जा न पाया
    इक तबस्सुम में ये दम है

    kamaal ke sher hain!!

    जवाब देंहटाएं
  32. दूसरों को कौन रोए
    सब को बस अपना ही गम है

    Sach Kaha...Khoob Kaha...

    जवाब देंहटाएं
  33. दूर होने पर ये जाना
    आज फिर क्यों आँख नम है

    दूसरों को कौन रोए
    सब को बस अपना ही गम है

    बहुत खूबसूरत गजल

    जवाब देंहटाएं
  34. छोड़ के मैं जा न पाया
    इक तबस्सुम में ये दम है

    लाजवाब...सभी शेर सुंदर !!

    जवाब देंहटाएं
  35. तू है या एहसास तेरा
    या मेरे मन का वहम है

    दूर होने पर ये जाना
    आज फिर क्यों आँख नम है

    छोटी बह्र में गज़ब की लहर पैदा कर दी है भाई दिगंबर नासवा जी आपने. तुरंत ज़बान पर चढ़ जाने वाले शेर हुए हैं.

    जवाब देंहटाएं
  36. छोड़ के मैं जा न पाया
    इक तबस्सुम में ये दम है !
    गज़ब के भाव है !

    जवाब देंहटाएं
  37. तू है या एहसास तेरा
    या मेरे मन का वहम है
    बहुत खूब हर शेर ..यह विशेष पसंद आया ..शुक्रिया

    जवाब देंहटाएं
  38. तू है या एहसास तेरा
    या मेरे मन का वहम है

    दूर होने पर ये जाना
    आज फिर क्यों आँख नम है....

    sajjan jee

    जवाब देंहटाएं
  39. बहुत खूब.सभी शेर बहुत सुन्दर हैं.. बधाई.

    जवाब देंहटाएं
  40. हमेशा की तरह दिल से निकली बात .....
    जो पुकारले प्यार से
    बस वो ही हमदम है |

    खुश रहें!

    जवाब देंहटाएं
  41. बहुत सुन्दर रचना !
    आभार !

    जवाब देंहटाएं
  42. बहुत सुन्दर हृदयस्पर्शी रचना

    जवाब देंहटाएं
  43. दूसरों को कौन रोए
    सब को बस अपना ही गम है
    sundar rachna BADHAIE

    जवाब देंहटाएं
  44. ग़ज़ल तो खूबसूरत है ही,
    मौसम भी बेरहम है...

    जवाब देंहटाएं
  45. हर शे र लाजवाब ...

    छोड़ के मैं जा न पाया
    इक तबस्सुम में ये दम है

    वाह!!!उम्दा !!!

    जवाब देंहटाएं
  46. सुन्दर ग़ज़ल नासवा भाई साहब
    ले जा रही हूँ इसे
    आपकी यह बेहतरीन रचना शनिवार 25/08/2012 को http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जाएगी. कृपया अवलोकन करे एवं आपके सुझावों को अंकित करें, लिंक में आपका स्वागत है . धन्यवाद!

    जवाब देंहटाएं
  47. ..

    छोड़ के मैं जा न पाया
    इक तबस्सुम में ये दम है
    उम्र भर न भूल पाया ,
    उम्र का कैसा सितम है .
    प्यार के पल बहुत कम हैं .
    एक नखलिस्तान सा है देख लो जिसमे भी दम है .बहुत बढ़िया रचना है बारहा पढने को उकसाती ......कृपया यहाँ भी पधारें -
    ram ram bhai
    शुक्रवार, 24 अगस्त 2012
    आतंकवादी धर्मनिरपेक्षता
    "आतंकवादी धर्मनिरपेक्षता "-डॉ .वागीश मेहता ,डी .लिट .,1218 ,शब्दालोक ,अर्बन एस्टेट ,गुडगाँव -122-001

    आतंकवादी धर्मनिरपेक्षता

    राजनीतिक लफ्फाज़ फैला रहें हैं भ्रम ,

    कि आतंकवादी का नहीं होता कोई धर्म ,


    अभिप्राय : है यही और यही है संकेत ,

    कि आतंकवादी होता है धर्मनिरपेक्ष .

    धन्य है सरकार ,क्या खूब बहका रही है ,

    आतंकवाद का क्या ,धर्मनिरपेक्षता तो बढ़ा रही है .http://veerubhai1947.blogspot.com/

    जवाब देंहटाएं
  48. दूसरों को कौन रोए
    सब को बस अपना ही गम है.

    बहुत खूब...

    जवाब देंहटाएं
  49. द्रुत टिपण्णी के लिए शुक्रिया ज़नाब का ..कृपया यहाँ भी पधारें -
    शुक्रवार, 24 अगस्त 2012
    Sciatica & Leg Pain

    Sciatica & Leg Pain

    Chiropractic Bringing out the Best in you

    Sciatic Nerve

    Either of the two nerves that run from the back of the hip down the thigh to the calf.
    Your sciatic nerve is the longest and largest nerve in your body .It begins in your lower back as five smaller nerves joining together and extends to your pelvis ,thigh ,knee ,calf ,ankle ,foot and toes.
    Your sciatica nerve is formed from lower lumbar nerves.

    Sciatic means relating to or affecting the back of the hip or the sciatic nerve.Also sciatic means causing sciatica or caused by sciatica.

    What is Sciatica ?

    When this large nerve becomes inflamed the condition is called sciatica(pronounced si’ad-a’ka)and the pain can be intense !The pain may follow the path of your nerve –down the back of your legs and thighs ,down to your ankle ,foot and toes –but it can also radiate to your back !

    जवाब देंहटाएं
  50. ये तो सच है - एक तबस्सुम में होता है बहुत दम।

    जवाब देंहटाएं
  51. अच्छी प्रस्तुति। मेरे नए पोस्ट पर आपका स्वागत है।

    जवाब देंहटाएं
  52. अहसासों को समेटे सुदंर ग़ज़ल.

    जवाब देंहटाएं
  53. ये ग़ज़ल मैं लिए जा रही हूँ ...
    अपनी तस्वीर और पता (ब्लॉग ka भी )जल्द मेल कर दें ...

    जवाब देंहटाएं
  54. आ रहे हैं आपकी दुबई -- २६-२९ अगस्त .

    जवाब देंहटाएं
  55. CHHOTEE BAHAR MEIN AAPKE SABHEE
    SHER ACHCHHE LAGE HAIN . BADHAAEE .

    जवाब देंहटाएं
  56. फुर्र हो जाते हैं अपने
    वक्त का कैसा सितम है

    हर शेर सच्चाई को बयां करता हुआ।

    बधाई, नासवा जी।

    जवाब देंहटाएं
  57. Beautiful lines :)

    http://apparitionofmine.blogspot.in/

    जवाब देंहटाएं
  58. क्या करें सरकार का हम ,खा गई सारी रकम है ,
    रोक ले वो जिसमे दम है . ,शुक्रिया .कृपया यहाँ भी पधारें -

    ram ram bhai
    रविवार, 26 अगस्त 2012
    एक दिशा ओर को रीढ़ का अतिरिक्त झुकाव बोले तो Scoliosis
    एक दिशा ओर को रीढ़ का अतिरिक्त झुकाव बोले तो Scoliosis


    कई मर्तबा हमारी रीढ़ साइडवेज़ ज़रुरत से ज्यादा वक्रता लिए रहती है चिकित्सा शब्दावली में इसे ही कहा जाता है -Scoliosis .

    24 हड्डियों (अस्थियों )की बनी होती है हमारी रीढ़ (स्पाइन )जिन्हें vertebrae कहा जाता है .रीढ़ की हड्डी की गुर्री का एक अंश है ये vertebra जिसे कशेरुका भी कहा जाता है .रीढ़ वाले प्राणियों को कहा जाता है कशेरुकी जीव (vertebrate ).

    ये कशेरुका एक के ऊपर एक रखी होतीं हैं .रीढ़ को सामने से पीछे की ओर देखने पर वह सीधी (ऋजु रेखीय )ही दिखलाई देती है .

    बेशक रीढ़ एक दम से सीधी नहीं होतीं हैं और ऐसा होना एक दम से सामान्य बात है.नोर्मल ही समझा जाता है .लेकिन जब यही रीढ़ आढ़ी तिरछी टेढ़ी मेढ़ी ज़रुरत से ज्यादा होती है तब यह असामान्य बात है ,एक रोगात्मक स्थिति भी हो सकती है यह जिसका आपको ज़रा भी भान (इल्म )नहीं है .
    http://veerubhai1947.blogspot.com/

    जवाब देंहटाएं

  59. फुर्र हो जाते हैं अपने
    वक़्त का कैसा सितम है

    तू है या एहसास तेरा
    या मेरे मन का वहम है

    दूर होने पर ये जाना
    आज फिर क्यों आँख नम है .waah bahut sundar diggambar ji aapki post par aana bahut sukhad raha aisa laga man ke bhav padh rahe hai hardik badhai

    जवाब देंहटाएं
  60. फुर्र हो जाते हैं अपने
    वक़्त का कैसा सितम है

    तू है या एहसास तेरा
    या मेरे मन का वहम है
    ..bahut khoob!

    जवाब देंहटाएं
  61. The post is handsomely written. I have bookmarked you for keeping abreast with your new posts.

    जवाब देंहटाएं
  62. It is a pleasure going through your post. I have bookmarked you to check out new stuff from your side.

    जवाब देंहटाएं
  63. A very well-written post. I read and liked the post and have also bookmarked you. All the best for future endeavors.

    जवाब देंहटाएं
  64. I was very encouraged to find this site. I wanted to thank you for this special read. I definitely savored every little bit of it and I have bookmarked you to check out new stuff you post.

    जवाब देंहटाएं
  65. Good efforts. All the best for future posts. I have bookmarked you. Well done. I read and like this post. Thanks.

    जवाब देंहटाएं
  66. तू है या एहसास तेरा
    या मेरे मन का वहम है

    खूबसूरत अहसास । गजडल के सभी शेर प्यारे ।

    जवाब देंहटाएं
  67. 'उम्दा' भी कम पड़ जाता है..

    जवाब देंहटाएं
  68. I do not even know how I ended up here, but I thought this post was great.
    I don't know who you are but certainly you're going to a famous blogger if
    you are not already ;) Cheers!
    My blog post ... the official Comparison

    जवाब देंहटाएं

आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है