सोमवार, 15 अप्रैल 2019

चाँद उतरता है होले से ज़ीने पर ...


हुस्नो-इश्क़, जुदाई, दारू पीने पर
मन करता है लिक्खूं नज़्म पसीने पर 

खिड़की से बाहर देखो ... अब देख भी लो  
क्यों पंगा लेती हो मेरे जीने पर 

सोहबत में बदनाम हुए तो ... क्या है तो 
यादों में रहते हैं यार कमीने पर    

लक्कड़ के लट्टू थे, कन्चे कांच के थे
दाम नहीं कुछ भी अनमोल नगीने पर

राशन, बिजली, पानी, ख्वाहिश, इच्छाएं
चुक जाता है सब कुछ यार महीने पर 

खुशबू, बातें, इश्क़ ... ये कब तक रोकोगे  
लोहे की दीवारें, चिलमन झीने पर

छूने से नज़रों के लहू टपकता है
इश्क़ लिखा है क्या सिन्दूर के सीने पर

और वजह क्या होगी ... तुझसे मिलना है
चाँद उतरता है होले से ज़ीने पर

61 टिप्‍पणियां:

  1. यकीनन पसीने पर लिक्खी नज़्म अनूठी होगी
    लाजवाब शेर .... लाजवाब नजरिया

    जवाब देंहटाएं
  2. उत्तर
    1. बहुत समय बाद आज आपको देख के अच्छा लगा ... आभार आदरणीय ...

      हटाएं
  3. बहुत ही लाजबाब गजल,नासवा जी।

    जवाब देंहटाएं
  4. वाह क्या बात है ।

    खिड़की से बाहर देखो ... अब देख भी लो
    क्यों पंगा लेती हो मेरे जीने पर

    जवाब देंहटाएं
  5. और वजह क्या होगी ... तुझसे मिलना है
    चाँद उतरता है होले से ज़ीने पर...
    ग़ज़ब के शेर हैं सारे के सारे... कभी मुस्कुराने पर मजबूर करते तो कभी गंभीरता से सोचने पर !!!
    जैसे - "राशन, बिजली, पानी, ख्वाहिश, इच्छाएं,
    चुक जाता है सब कुछ यार महीने पर"

    जवाब देंहटाएं
  6. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल मंगलवार (16-04-2019) को "तुरुप का पत्ता" (चर्चा अंक-3307) पर भी होगी।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    जवाब देंहटाएं
  7. छूने से नज़रों के लहू टपकता है
    इश्क़ लिखा है क्या सिन्दूर के सीने पर

    बहुत खूब ,लाजबाब ,सादर नमस्कार

    जवाब देंहटाएं
  8. जी नमस्ते,
    आपकी लिखी रचना मंगलवार १६ अप्रैल २०१९ के लिए साझा की गयी है
    पांच लिंकों का आनंद पर...
    आप भी सादर आमंत्रित हैं...धन्यवाद।

    जवाब देंहटाएं
  9. और वजह क्या होगी ... तुझसे मिलना है
    चाँद उतरता है होले से ज़ीने पर ..., बेहतरीन और लाजवाब... , बहुत ही सुन्दर ।

    जवाब देंहटाएं
  10. पसीने पर नज्म...वाह!!!

    खुशबू, बातें, इश्क़ ... ये कब तक रोकोगे
    लोहे की दीवारें, चिलमन झीने पर
    अद्भुत शब्दविन्यास.....

    और वजह क्या होगी ... तुझसे मिलना है
    चाँद उतरता है होले से ज़ीने पर
    वाहवाह...कमाल की गजल....
    मुकम्मल शेर...बहुत ही लाजवाब।


    जवाब देंहटाएं
  11. ब्लॉग बुलेटिन की दिनांक 15/04/2019 की बुलेटिन, " १०० वीं जयंती पर भारतीय वायु सेना के मार्शल अर्जन सिंह जी को ब्लॉग बुलेटिन का सलाम “ , में आप की पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    जवाब देंहटाएं
  12. बेहतरीन¡
    हर शेर लाजवाब हर शेर अलहदा भाव समेटे उम्दा
    शानदार।

    जवाब देंहटाएं
  13. और वजह क्या होगी ... तुझसे मिलना है
    चाँद उतरता है होले से ज़ीने पर....
    लाजवाब लेखन । और भला चाँद उतरे ही क्यूँ, वजह तो बस एक ही होगी। पारखी लेखन, साधुवाद ।

    जवाब देंहटाएं
  14. वाह। जेहनी अहसासों को बख़ूब लफ्जो में बयाँ किया है।

    जवाब देंहटाएं
  15. one of the best blog post, I have seen you are really good. I will recommend your website to my all friends.

    Thank you for helping

    English Speaking Course In Noida

    जवाब देंहटाएं
  16. पहली दो पंक्तियाँ तुरत ग़ज़ल में डुबो देती हैं. शानदार.

    जवाब देंहटाएं
  17. वाह... और बस वाह.. जरूर लिखिये पसीने पर .आपने लिखा भी है . जब से दुष्यन्तकुमार या गोंडवी जी ने लिखा है तो हुस्न और शराब की नज्में पीछे छूट गईं .

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपका कहना सही है Adam Goundvi जी ने तो एक नई दिशा दी है ग़ज़ल लेखन को ...
      आपका आभार है ...

      हटाएं

  18. Thanks for sharing valuable Information, I really very impressive on your blog. I hope you continue on blogging job. Digital Marketing course in Greater Noida is where you can learn how to set up campaigns, generate and analyze personalized reports,
    capture more leads for your company and increase Return on Investment in online marketing campaigns.

    Digital Marketing course in Greater Noida

    जवाब देंहटाएं
  19. और वजह क्या होगी ... तुझसे मिलना है
    चाँद उतरता है होले से ज़ीने पर
    ...लाज़वाब... बहुत ख़ूबसूरत ग़ज़ल...

    जवाब देंहटाएं
  20. खुशबू, बातें, इश्क़ ... ये कब तक रोकोगे
    लोहे की दीवारें, चिलमन झीने पर.... वाह! वाह! और सिर्फ वाह!!!

    जवाब देंहटाएं
  21. नए लफ्ज़ और नये नये मानी लेकर
    ग़ज़ल कही है आपने मरने जीने पर!

    दिल खुश हो गया भाई!

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. बहुत अच्छा लगा आपको आज ब्लॉग पर देख कर सलिल जी ...
      बहुत आभार आपका ...

      हटाएं
  22. हुस्नो-इश्क़, जुदाई, दारू पीने पर
    मन करता है लिक्खूं नज़्म पसीने पर
    इन पंक्तियों में अनुपम भाव लिये ख़ूबसूरत ग़ज़ल...

    जवाब देंहटाएं
  23. छूने से नज़रों के लहू टपकता है
    इश्क़ लिखा है क्या सिन्दूर के सीने पर
    मन प्रसन्न कर दिया आपके अल्फ़ाज़ों ने !

    जवाब देंहटाएं
  24. I am very glad to see this post. It is very interesting and informative. Such a nice post, i am very thankful and i like this post. Also i would like to share one thing which is an institute for learning programming languages, which is the most demanding now a day. For that, you can join at this link

    Pythan Training in Greater Noida
    Pythan coaching in Greater Noida
    Pythan institute in Greater Noida
    Pythan classes in Greater Noida


    जवाब देंहटाएं
  25. I am exceptionally happy to see this post. It is fascinating and enlightening. Such a pleasant post, I am grateful and I like this post. Likewise I might want to share one thing which is an establishment for learning Digital Marketing, which is the most requesting now daily. For that, you can join at this connection
    Digital Marketing Training in Noida
    Digital Marketing coaching in Noida
    Digital Marketing institute in Noida
    Digital Marketing classes in Noida


    जवाब देंहटाएं
  26. I am outstandingly glad to see this post. It is interesting and edifying. Such a lovely post, I am appreciative and I like this post. Moreover, I should need to share one thing which is a foundation for learning python, which is the most mentioning now every day. For that, you can join at this association

    Pythan Training in Greater Noida
    Pythan coaching in Greater Noida
    Pythan institute in Greater Noida
    Pythan classes in Greater Noida


    जवाब देंहटाएं
  27. I am very glad to see this post. It is very interesting and informative. Such a nice post, i am very thankful and i like this post. Also i would like to share one thing which is an institute for learning programming languages, which is the most demanding now a day. For that, you can join at this link

    Digital Marketing Training in Greater Noida
    Digital Marketing coaching in Greater Noida
    Digital Marketing institute in Greater Noida
    Digital Marketing classes in Greater Noida


    जवाब देंहटाएं

आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है