बुधवार, 26 मई 2021

घुमड़ते बादलों को प्रेम का कातिब बना देना ...

घुमड़ते बादलों को प्रेम का कातिब बना देना.
सुलगती शाम के मंज़र को गजलों में बता देना.
 
बदल जाएगा मौसम धूप में बरसात आएगी,
मिलन के चार लम्हे जिंदगी के गुनगुना देना.
 
बुराई ही नहीं अच्छाई भी होती है दुनिया में,
बुरा जो ढूंढते हर वक़्त उनको आईना देना.
 
तलाशी दे तो दूं दिल की तुम्हारा नाम आये तो, 
तुम्हें बदनाम करने का मुझे इलज़ाम ना देना.
 
दिलों के खेल में जो ज़िन्दगी को हार बैठे हैं,
उन्हें झूठी मुहब्बत का कभी मत झुनझुना देना.

30 टिप्‍पणियां:

  1. हमेशा की तरह लाजवाब और शानदार

    जवाब देंहटाएं
  2. बुराई ही नहीं अच्छाई भी होती है दुनिया में,
    बुरा जो ढूंढते हर वक़्त उनको आईना देना.--बहुत खूब...।

    जवाब देंहटाएं
  3. घुमड़ते बादलों को प्रेम का कातिब बना देना.
    सुलगती शाम के मंज़र को गजलों में बता देना.

    लाजवाब

    जवाब देंहटाएं
  4. आपकी इस प्रस्तुति का लिंक 27-05-2021को चर्चा – 4,078 में दिया गया है।
    आपकी उपस्थिति मंच की शोभा बढ़ाएगी।
    धन्यवाद सहित
    दिलबागसिंह विर्क

    जवाब देंहटाएं
  5. बुराई ही नहीं अच्छाई भी होती है दुनिया में,
    बुरा जो ढूंढते हर वक़्त उनको आईना देना.
    वाह..बहुत सुंदर।

    जवाब देंहटाएं
  6. क्या बात है सर्।
    लाजवाब।

    जवाब देंहटाएं
  7. आपकी लिखी रचना ब्लॉग "पांच लिंकों का आनन्द" पर ( 3041...दोषारोपण और नाकामी का दौर अब तीखा हो चला है...) गुरुवार 27 मई 2021 को साझा की गई है.... पाँच लिंकों का आनन्द पर आप भी आइएगा....धन्यवाद!

    जवाब देंहटाएं
  8. आपको पढ़ने में सदा ही आनन्द आता था। बीच में क्रम टूट गया था, अब पुनः उस आनन्द पर यूट पड़ा हूँ।

    जवाब देंहटाएं
  9. दिलों के खेल में जो ज़िन्दगी को हार बैठे हैं,
    उन्हें झूठी मुहब्बत का कभी मत झुनझुना देना..... बहुत खूब!
    हर बार की तरह नायाब प्रस्तुति .

    जवाब देंहटाएं
  10. तलाशी दे तो दूं दिल की तुम्हारा नाम आये तो,
    तुम्हें बदनाम करने का मुझे इलज़ाम ना देना.

    वाह वाह ! बहुत खूब ! आपकी हर ग़ज़ल लाजवाब होती है ! बहुत सुन्दर !

    जवाब देंहटाएं
  11. बुराई ही नहीं अच्छाई भी होती है दुनिया में,
    बुरा जो ढूंढते हर वक़्त उनको आईना देना.
    ......
    ...........जी बिलकुल सही लिखा है आपने। हमे सदैव सकारात्मक विचार रखना चाहिए

    जवाब देंहटाएं
  12. वाह। बहुत सुंदर । आज आइने की बहुत जरूरत है।

    जवाब देंहटाएं
  13. बहुत ही सुन्दर रचना

    जवाब देंहटाएं
  14. बुराई ही नहीं अच्छाई भी होती है दुनिया में,
    बुरा जो ढूंढते हर वक़्त उनको आईना देना.

    बहुत खूब !!एक से बढ़कर एक शेर,लाज़बाब,सादर नमन आपको

    जवाब देंहटाएं
  15. खूबसूरत गजल,हर शेर कुछ कहता हुआ ।

    जवाब देंहटाएं
  16. वाह!आदरणीय सर 👌लाजवाब।
    सादर प्रणाम 🙏

    जवाब देंहटाएं
  17. बुराई ही नहीं अच्छाई भी होती है दुनिया में,
    बुरा जो ढूंढते हर वक़्त उनको आईना देना.
    बहुत खूब !! सदैव की तरह अत्यंत सुन्दर अशआरों से सजी बेहतरीन कृति ।

    जवाब देंहटाएं
  18. ...झुनझुना देना, बहुत ख़ूबसूरत बात। बहुत सुन्दर ग़ज़ल। दाद स्वीकारें।

    जवाब देंहटाएं
  19. बुराई ही नहीं अच्छाई भी होती है दुनिया में,
    बुरा जो ढूंढते हर वक़्त उनको आईना देना.
    वाह!!!
    क्या बात...
    बहुत ही लाजवाब एवं सारगर्भित सदा की तरह

    जवाब देंहटाएं
  20. हमेशा की तरह खूबसूरत ग़ज़ल । हर शेर उम्दा

    जवाब देंहटाएं
  21. बहुत खूबसूरत ग़ज़ल। साधुवाद

    जवाब देंहटाएं

आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है