बुधवार, 23 फ़रवरी 2022

आदत ...

कितनी अच्छी है
भूल जाने की ये आदत
जब भी देखता हूं तुम्हें  
हर बार
नई सी नज़र आती हो
 
पर सुनो ...
तुम मत डालना ये आदत
 

18 टिप्‍पणियां:

  1. हा हा बहुत खूब भूल जाना इस तरह से नया देखने के लिये वाह

    जवाब देंहटाएं
  2. आपकी लिखी रचना ब्लॉग "पांच लिंकों का आनन्द" पर गुरुवार 24 फ़रवरी 2022 को लिंक की जाएगी ....

    http://halchalwith5links.blogspot.in
    पर आप सादर आमंत्रित हैं, ज़रूर आइएगा... धन्यवाद!

    !

    जवाब देंहटाएं
  3. बहुत सुंदर । सुंदर भाव ।

    जवाब देंहटाएं
  4. वाह । ऐसा भूलना तो बहुत पसंदीदा होगा ।।

    जवाब देंहटाएं
  5. बहुत सुंदर,इतनी नये रूप में कुछ याद आऐ तो सच ही है भूल जाना,।

    जवाब देंहटाएं
  6. वाह, भूलना भी वरदान बन गया तब तो लेकिन औरों को इसकी मनाही क्यों

    जवाब देंहटाएं
  7. अलहदा अंदाज इश्क अदायगी का...

    जवाब देंहटाएं
  8. वाह!!!
    नयापन चाहिए तो पुराना भछल जाना बेहतर है।

    जवाब देंहटाएं
  9. बुरा भूलते भूलते हमें भूलने की आदत होजाती है .इसका नुक्सान यह कि अच्छा भी भूलने लगते हैं ..

    जवाब देंहटाएं
  10. वाह ! अपने बचाव का यह तरीका अच्छा है।

    जवाब देंहटाएं

आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है